Blog

एक मुखी रुद्राक्ष से मिलेगा हर दुखो से छुटकारा -जाने आप Kon Sa Rudraksh Pehnne

Kon Sa Rudraksh Pehnne

Kon Sa Rudraksh Pehnne  से हमें इस सबसे ज्यादा फायदा पहुंचता है, तो भगवान शिव के अश्रुओं से जन कल्याण के लिए उत्पन्न हुआ, रुद्राक्ष धारण करने से हमारी सभी समस्याओं का समाधान होता है।

हम आपको बताएंगे कि कौन सा रुद्राक्ष पहनने से( Kon Sa Rudraksh Pehnne ) हमें वह समस्त प्रकार के संकटों एवं नकारात्मक शक्तियों से बचाता है।

Kon Sa Rudraksh Pehnne
Kon Sa Rudraksh Pehnne

Rudraksh Dharan Karne ke Fayde  तो काफी सारे हैं, लेकिन Kon Sa Rudraksh Pehnne – रुद्राक्ष जितना ही छोटी साइज का हो, वह रुद्राक्ष उतना ही ज्यादा प्रभावशाली होता है। इसके शुभ प्रभाव से ही जातक को धन-संपत्ति, जमीन- जायदाद, मान-सम्मान की प्राप्ति रुद्राक्ष धारण करने की विधि करके धारण करने से अवश्य ही प्राप्त होगा।जो भी मनुष्य पूरी श्रद्धा, भक्ति-भाव से रुद्राक्ष को धारण करता है, उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है,  और मनुष्य के सभी कष्ट,  दुख एवं दरिद्रता का नाश होकर सभी प्रकार की  सुख-सुविधाओं को प्राप्त कर,  संसार में ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है।

रुद्राक्ष भगवान शिव के द्वारा उत्पन्न हुआ है  तो Kon Sa Rudraksh Pehnne से लाभदायक तो है ही, लेकिन कौन सी चीज, वस्तु, या कौन से दुखों से मुक्ति पाने के लिए कौन सा रुद्राक्ष धारण करना चाहिए। वह जानना अत्यधिक आवश्यक है। 

dr. mahadev prasad

 

चार युगों का वर्णन – सालो के बाद होगा कलयुग का अंत – 4 YUG

वैसे तो रुद्राक्ष के काफी सारे प्रकार है,  जिसे धारण करने से हमें अलग अलग फल की प्राप्ति होती है तो हमें Kon Sa Rudraksh Pehnne चाहिए, तो इसके बारे में जानकारी।

रुद्राक्ष में स्वयं भगवान शिव विराजमान होते हैं। इसके दर्शन मात्र से ही मनुष्य का जीवन कल्याणमय हो  जाती है। हमारे शास्त्रों में एक कथा के अनुसार एक मुखी रुद्राक्ष हमें भ्रम, गौ हत्या जैसे महापाप को भी नष्ट करता है। घर में रुद्राक्ष  होने से वहां स्वयं लक्ष्मी जी का निवास  होता है, और परम पवित्र रुद्राक्ष को धारण करने वाला जातक भय रहित रहता है। रुद्राक्ष अत्यंत दुर्लभ है और इसे धारण करने से मनुष्य को शांति की प्राप्ति होती है। 

Kon Sa Rudraksh Pehnne से हमारी बुद्धि जागृत होती है। तो दो मुखी रुद्राक्ष को धारण करने से हमारी बुद्धि जागृत होती है। और इसे धारण करने से कार्य और व्यापार क्षेत्र में जबरदस्त लाभ  होता है, साथ में पति-पत्नी में  झगड़े एवं क्लेश खत्म होकर  संबंधों में मधुरता बढ़ती है, और सदैव  के लिए प्रेम की भावना स्थापित होती है।

Kon Sa Rudraksh Pehnne

Kon Sa Rudraksh Pehnne से ब्रह्मा विष्णु महेश एवं तीनो लोग प्रसन्न होते है । आकाश पृथ्वी और पाताल की समस्त शक्तियां रुद्राक्ष में निहित होती है ,तो तीन मुखी रुद्राक्ष पहनने से यह सब प्राप्त होता है और जो भी विद्यार्थी पढ़ने में कमजोर है और वह रुद्राक्ष को धारण करें तो अवश्य ही अभ्यास में सफलता प्राप्त करेगा।

परम पवित्र रुद्राक्ष हमारी बुद्धि को गलत कर्म करने से हमेशा रोकने वाला  होता है, और साथ अगर कोई भी मनुष्य स्वास्थ्य संबंधी बीमारियों से  जूझ रहा है, तो वह जातक रुद्राक्ष को धारण करेगा तो अवश्य ही स्वास्थ्य में सुधार होगा। खास तौर पर थाइरोइड, ब्रेन डिसऑर्डर, ब्लड प्रेशर एवं प्रोस्टेट ग्रंथि जैसी समस्याओं के सुधार में लाभ मिलता है।  कौन से लोगों को खास तौर पर रुद्राक्ष को धारण करना चाहिए तो  विद्यार्थी, लेखक, पत्रकार, टीचर, सिनेमा से जुड़े हुए एवं  विज्ञान क्षेत्र से जुड़े हुए कोई  भी जातक इसे धारण करता है तो आपकी अप्रत्याशित रूप से असाधारण वृद्धि होगी।

जोड़ी रहती है नंबर 1 – मेष राशि और मिथुन राशि की – Aries and Gemini

  Kon Sa Rudraksh Pehnne  से मनुष्य की खोई हुई ताकत प्राप्त होती है, साथ में याददाश्त और बुद्धि का विकास होता है, तो पंचमुखी रुद्राक्ष धारण करने वाला जातक यह सब पा सकता है।

रुद्राक्ष को धारण करने से नौकरी में तरक्की व्यापार में वृद्धि और ईश्वर के प्रति हमारी पावती खबर होती है साथ ही आर्थिक मानसिक शारीरिक की पत्तियों से हमारी रक्षा होती है रुद्राक्ष हमें लक्ष्मी के साथ आरोग्यता भी प्रदान करता है।

https://youtu.be/7VB1RRpV_7Y

3 comments

Leave A Comment