Blog

सिंह राशि और वृषभ राशि की जोड़ी कैसी रहती है : Leo and Taurus compatibility

सिंह राशि और वृषभ राशि

सिंह राशि और वृषभ राशि की जोड़ी कैसी रहती है। Leo and Taurus compatibility

वैसे तो सिंह राशि और वृषभ राशि की दुनिया ही अलग होती है। Wonder of the earth भी इन दोनों की जोड़ी को आप कह सकते हैं। प्रेम का सही अर्थ आप इन लोगों से अवश्य सीख सकते हैं।

सिंह राशि और वृषभ राशि की जोड़ी कैसी रहती है
सिंह राशि और वृषभ राशि की जोड़ी कैसी रहती है

इस दुनिया के लोगो का अक्सर एक-दूसरे के साथ कुछ न कुछ तो संबंध रहता है। किसी के साथ अच्छा रहता है तो किसी के साथ सामान्य। किंतु सिंह राशि और वृषभ राशि का संबंध हमेशा के लिए खास रहता है। दोस्तो अगर हमें यह पहले से पता चल जाए कि भविष्य में जो हमारे साथ रहने वाला है, या जिनके साथ हम पूरी जिंदगी बिताने वाले हैं।

वह व्यक्ति का स्वभाव व्यवहार सोच कैसी होती है, सिंह राशि के साथ वृषभ राशि के संबंध कैसे रहते हैं, आपस में बॉन्डिंग कैसी होती है। तो उनके साथ हमारी जिंदगी आसानी से गुजरती हैं। जी हां आज मैं सिंह राशि और वृषभ राशि की जोड़ी कैसी रहती है, उनके बारे में वैदिक पद्धति के माध्यम से बताने जा रहा हूं।

सिंह राशि का चिन्ह शेर है, तो वही वृषभ राशि वालों का चिन्हा बेल है। सिंह राशि वालों आपकी जन्म राशि से गिनती की जाए तो आप से दसवें स्थान में वृषभ राशि आती है। दसवां स्थान यानी कि कार्य का, जॉब का, व्यवसाय का, भागीदारी का, याने की वृषभ राशि का जातक आपके लिए व्यापार के दृष्टिकोण से हो या फिर व्यवसाई के दृष्टिकोण से हर जगह आपके लिए काफी महत्वपूर्ण और विशेष बन सकते हैं। खास तौर पर यह लोग विवाह के पहले से ही व्यवसायिक भागीदार की तौर पर कहीं न कहीं जुड़े हुए होते हैं।

Leo and Taurus compatibility

एक बात तो हम Definitely कह सकते हैं, सिंह राशि और वृषभ राशि की वैचारिक नजरिया भले ही अलग-अलग होता है। किंतु इनका सफलता का पैमाना एक ही होता है। सिंह राशि वालों आप किसी भी कार्य की शुरुआत अंत से करते हैं तो वहीं वृषभ राशि की पायदान से शिखर तक शरूआत होती है। यदि आप इन लोगों से धीरज ता पूर्ण कार्य करवा सकते हैं, तो यकीनन आप बहुत शुभ परिणाम प्राप्त कर सकेंगे। हां इन दोनों राशि के लोगों का सुंदरता के प्रति मोह होता है और वह कामुकता की ओर भी भागते हैं, यही मुख्य कारण होता है पास रहने का।

जोड़ी रहती है नंबर 1 – मेष राशि और मिथुन राशि की – Aries and Gemini

सिंह राशि और वृषभ राशि विरोधाभासी राशि होने के बावजूद भी आप दोनों के बीच में एक गजब का आकर्षण रहता है। खासकर सिंह राशि के जातक वृषभ राशि की सुंदरता से मोहित होते हैं, क्योंकि वृषभ राशि सौंदर्य प्रधान एवं कामुकता की जननी राशि मानी जाती है।

सिंह राशि और वृषभ राशि
सिंह राशि और वृषभ राशि

तो वही वृषभ राशि वाले सिंह राशि के आक्रामक रवैये से एवं निडरता से काफी प्रभावित होते है। जब जब भी यह लोग इनके पास रहते हैं तो उन्हें सुरक्षा का एहसास होता है। इस तरह इन दोनों राशि के जातकों का मिलन होता है,पहले दोस्ती और फिर बाद में प्रेम का आरंभ हो जाता है। Leo And Taurus compatibility इसलिये काफी अच्छी होती है।

ज्योतिष शास्त्र तो यहां तक कहता है, सिंह राशि और वृषभ राशि के लोगों को एक ही नजर में प्यार हो जाता है। यह होना भी स्वाभाविक है, क्योंकि सिंह राशि के जातक सौंदर्य के उपासक होते हैं। तो वृषभ राशि वाले प्यार में सब कुछ न्योछावर करने वाले होते हैं। एक और सिंह राशि वाले उतावले स्वभाव के होते हैं, तो दूसरी ओर वृषभ राशि वाले स्थिर एवं सोच समझकर ही आगे बढ़ने में यकीन करने वाले होते हैं।

सिंह राशि और वृषभ राशि
सिंह राशि और वृषभ राशि

हा एक बात जरूर है, सिंह राशि और तुला राशि love relationship में अपने साथी को अलौकिक सुख की प्राप्ति तब ही कराते हैं, जब वह पूरी तरह से सामने के प्रति आश्वस्त हो जाते हैं। वह जल्द ही किसी की बातों में नहीं आते, या यह दोनो ही राशि वाले प्यार में एक बार यकीन कर लेते हैं, तो अपने साथी के लिए सब कुछ न्योछावर करने के लिए तैयार रहते हैं। यहां तक ये अपनी दुनिया, अपना परिवार अपना सब कुछ दांव पर रखकर अपने साथी के साथ चल देते हैं। इस तरह इन दोनों का प्रेम विवाह भी संभव है। Love marriage की संभावनाएं इन राशि के लोगों के बीच में काफी बढ़ जाती है।

चार युगों का वर्णन – सालो के बाद होगा कलयुग का अंत – 4 YUG

सिंह राशि और वृषभ राशि की लव रिलेशनशिप के बारे में बात करें तो का प्रेम जीवन उम्मीद से ज्यादा अच्छा रहता है। इनके रिश्ते में मधुरता से भरे पल जितने होते हैं, उतने ही टकराव के पल भी होते हैं, इन सब के बावजूद भी यह जब भी साथ होते है। तब बेहद खूबसूरत रोमांटिक पल गुजारते हैं। इन दोनों राशियों का तत्व भिन्न होने की वजह से इनकी आपस में खूब जमती भी है, यह अपने साथी के दिल पर राज करते हैं। प्रेम में नयापन भी यह काफी पसंद करते हैं। इसलिए यह लोगों को घूमने फिरने के अलग-अलग जगह पाया जाता है।

सिंह राशि और वृषभ राशि
सिंह राशि और वृषभ राशि

ज्योतिष शास्त्र कहता है सिंह राशि और वृषभ राशि का विवाह जीवन सामान्य रहता है, क्योंकि वृषभ राशि के जातक भावना सिल, संवेदनशील एवं धीरज वान होते हैं। और उन्हें जोर जबरदस्ती यहां तक विचारों का थोपा जाना पसंद नहीं होता। तो वही सिंह राशि के जातक रचनात्मक विचारों वाले और आज्ञा वान होते हैं। कभी-कभी पारिवारिक हस्तक्षेप की वजह से जड़प हो सकती है, बाकी इनका दांपत्य जीवन वैवाहिक संबंध बेहतर रहता है। अक्सर यह लोग घर बाहर या किसी भी जगह कार्य करवाने के लिए आज्ञा देते रहते है। क्योंकि यह दोनो अतरंगी मिजाज वाले और अच्छे लीडर होते हैं। सायद यही बता आपस में टकराव के लिए जिम्मेदार होती है। यही बात दोनों को एक दूसरे से अलग करती है।

सिंह राशि के जातक के दिल में एक ही अपेक्षा रहती है, उनका प्रियतम इनकी हर बात को सर आंखों पर रखें, उनको तहे दिल से प्यार करे, उनकी भावनाओं को समझें और और जिंदगी के हर अच्छे बुरे वक्त में उनका साथ दें। तो वहीं वृषभ राशि के जातक सिंह राशि की ज्यादातर आशाओं को पूर्ण करने में यकीन रखते हैं, क्योंकि भौतिक सुख सुविधाओं का सुख पाना, और हर प्रकार का सुख प्राप्त करने की उनकी इच्छा इन्हें दुनिया का सर्वश्रेष्ठ प्रेमी के तौर पर खड़ा कर देती है।

सिंह राशि और वृषभ राशि
सिंह राशि और वृषभ राशि

सिंह राशि वृषभ राशि की विवाहित जीवन की जब भी बात आती है, तो ज्यादातर लोग यही कहते हैं कि इन दोनों की जोड़ी सफल नहीं रहती किंतु वह लोग बिल्कुल गलत भी होते हैं, विरोधाभासी स्वभाव के बावजूद भी यह दोनों विवाह के बाद अच्छे जीवन साथी बन सकते हैं।

एक मुखी रुद्राक्ष से मिलेगा हर दुखो से छुटकारा -जाने आप Kon Sa Rudraksh Pehnne

क्योंकि सिंह राशि और वृषभ राशि के दोनों के बीच में जुड़ाव की वजह होती है, तो वह है कामुकता याने के प्यार। यह लोग जिंदगी के मजे लेने में यकीन रखने वाले होते हैं। सुंदर चीजों का उपभोग करना, अप टू डेट रहना इन दोनों के स्वभाव में ही होता है। इसलिए words great Life partner कहलाते हैं।

सिंह राशि का प्यार और वृषभ राशि का प्यार अमर होता है। यदि आप एक दूजे के साथ जिंदगी बिताना चाहते हैं, तो आपको स्वतंत्रता देनी पड़ेगी। आप के अड़ियल रवैये को बदलना पड़ेगा। साथी की भावनाओं को समझते हुए कार्य करना होगा। तब जाकर आप बहुत अच्छे जीवन साथी, अच्छे पिता, अच्छे प्रेमी और अच्छे साथी कहलाएंगे।

https://youtu.be/nKvHD1NTC7Q

जय गुरुदत्त

Leave A Comment